Archive for December, 2013

Miscellaneous Transient Feelings

Posted: December 14, 2013 in Poems
Tags:

1)
Each moment it is killed,
waiting to be revived again
At times left with breaths,
some times completely dead.

2)
In my own womb,
wrapped in life nectar,
getting ready for yet another birth.

3)
Before the worldly chores begin,
there lies a time where I still am I.
I love that time, and
I love myself for being so.

Advertisements

एक कहानी और भी

Posted: December 14, 2013 in Poems
Tags:

1) एक कहानी और भी लिखी है
खाली पन्नो पर, लफ्ज़ों से परे

2) वो बातों को बटोरना, तुझे सुनाने को
कहकर फिर सोचना, कहना तो कुछ और था

3) यूँ तो एक लफ्ज है मुहब्बत
हर रोज़ इसके, बस मायने बदलते हैं

4) कहाँ फर्क है, तू मुझ में हो या मैं तुझ में हूँ
तेरे नाम से जो डर जाऊँ तो, खो देती हूँ तुझको मैं और मुझको तू